केएमवी द्वारा महात्मा गांधी की अहिंसा पर आधारित मुहिम के बावजूद क्यों हुए 1947 के कत्लेआम को समझने की कोशिश विषय पर अंतरराष्ट्रीय वेबिनार आयोजित,

KMV Organises an International Webinar on An attempt to understand why did the 1947 Carnage occur despite Mahatma Gandhi’s campaign for Non- violence Mr Rajmohan Gandhi, Grandson of Mahatma Gandhi Delivers the Talk for the Webinar

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पोते श्री राजमोहन गांधी ने किया संबोधित,

(पढ़ें और देखें पीटीबी न्यूज़ पर)

PTB न्यूज़ “शिक्षा” : भारत की विरासत संस्था कन्या महाविद्यालय, ऑटोनोमस कॉलेज, जालंधर के इतिहास विभाग द्वारा गांधियन स्टडीज सेंटर के अंतर्गत महात्मा गांधी की अहिंसा पर आधारित मुहिम के बावजूद क्यों हुए 1947 के कत्लेआम को समझने की कोशिश विषय पर अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया /

.

वेबिनार मे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और भारत के अंतिम गवर्नर जनरल सी राजा गोपालचारी के पोते श्री राजमोहन गांधी ने मुख्य मेहमान के रूप मे शिरकत की / इनके अलावा इस आयोजन में श्री चंद्र मोहन, प्रधान, आर्य शिक्षा मंडल, श्री ध्रुव मित्तल, खजांची, डॉ एस पी गुप्ता और श्रीमती सुशीला भगत, मेंबर, केएमवी मैनेजिंग कमेटी भी हाजिर रहे /

.

गायत्री मंत्र के साथ शुरू हुए इस वेबिनार की कार्यवाही डॉ गुरजोत ने पेश की / प्रसिद्ध इतिहासकार, जीवनी लेखक और राज्यसभा के मेंबर होने के साथ-साथ सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च, नई दिल्ली तथा इलिनोइस विश्वविद्यालय, संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रोफेसर की सेवाएं निभाने वाले तथा साहित्य अकैडमी पुरस्कार से सन्मानित श्री राजमोहन गांधी और सभी का स्वागत करते हुए विद्यालय प्रिंसिपल प्रो अतिमा शर्मा द्विवेदी ने संबोधित होते हुए कहा कि इतिहासिक पक्ष की अनुचित पेशकारी ने देशों और विभिन्न नस्लों में भेदभाव और नफरत पैदा की है /

इस वेबिनार के लिए विषय के चुनाव की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि यह आयोजन 1947 में हुए कत्लेआम को समजने के लिए एक नई दिशा प्राप्त होगी, जिस से हम सब को शिक्षा और बेहतर समाज बनाने के लिए ज्ञान प्राप्त होगा / श्री चंद्र मोहन ने इस मौके पर संबोधित होते हुए 1947 की घटनाओं की आंखों देखी तस्वीर पेश करते हुए महात्मा गांधी जी की मौजूदगी के बावजूद हुए इस कत्लेआम से संबंधीत कारणों को जानने की इच्छा प्रगट की /

.

ज़ूम और फेसबुक के माध्यम के साथ इस वेबिनार में शिरकत करने वाले लगभग 5000 प्रतिभागियों से संबोधित होते हुए श्री राजमोहन गांधी ने 20वीं सदी की शुरुआत में पंजाब की राजनीतिक स्थिति से सबको वाकिफ करवाया / इसके अलावा उन्होंने जलिया वाले बाग की हुई दुर्घटना के कारणों और प्रकृति के बारे में विस्तार से चर्चा की और इसी घटना के कारण 40 के दशक के अंत में पैदा हुई हिंसा के बारे मे भी जानकारी प्रदान की /

.

क्रांतिकारियों और महात्मा गांधी के रिश्तो, गांधी जी और सुभाष चंद्र बोस के रिश्ते और गांधी जी द्वारा सरदार पटेल की जगह पंडित जवाहर लाल नेहरू को वारिस चुने जाने के संबंध मे विस्तार से चर्चा भी इस वेबिनर मे की गई / वेबिनार के दौरान प्रतिभागियों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने 1940 के दशक में कम हुई गांधी जी की प्रसिद्धी और देश के विभाजन के कारणों के बारे मे भी बात की /

.

इस वेबिनार के दौरान डॉ मोनिका शर्मा, डायरेक्टर, गांधियन स्टडीज सेंटर, केएमवी ने गांधी जी की विचारधारा अनुसार संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यो से वाकिफ करवाती पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन दी / वेबिनार के अंत में प्रिंसिपल प्रो अतिमा शर्मा द्विवेदी ने मुख्य मेहमान द्वारा दी गई बहुमूल्य जानकारी के लिए धन्यवाद व्यक्त किया और इतिहास विभाग द्वारा किए गए आयोजन की प्रशंसा की /

.

 

 

हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/ptbnewsonline/ को लाईक करें और हमारे Youtube Channel https://www.youtube.com/ptbnewsonline/ को Subscribed करें और अपने शहर और आसपास की खबरें देखें सबसे पहले,

साथ ही आप हमारे Telegram नंबर 9815505203 पर न्यूज़ Updates पाने और WhatsApp नंबर 9592825203 पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर को अपने Mobile में Save करके या तो हमारे नंबर को अपने किसी ग्रुप में एड कर लें ताकि आपको, आपके पारिवारिक सदस्यों को, आपके दोस्तों को भी अपने शहर और आसपास की खबरें न्यूज़ मिल सकें या फिर हमें अपना पूरा नाम, शहर का नाम और इलाका जरूर लिखकर भेजें ताकि हम आपके नाम को Save करके किसी ग्रुप में एड कर सकें,

KMV Organises an International Webinar on An attempt to understand why did the 1947 Carnage occur despite Mahatma Gandhi’s campaign for Non- violence Mr Rajmohan Gandhi, Grandson of Mahatma Gandhi Delivers the Talk for the Webinar