किसान आंदोलन, सिंघु बॉर्डर पर एक नौजवान किसान की हुई मौत, वहीं दूसरे ने उठाया खौफनाक कदम,

Punjab bad news from singhu border again young farmer dies suicide committed by youth due to non cancellation of agri laws

(पढ़ें और देखें पीटीबी न्यूज़ पर)

PTB Big Sad न्यूज़ नाभा / तापा मंडी : केंद्र सरकार के काले कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा दिल्ली की सरहदों पर आंदोलन किया जा रहा है / इस दौरान सिंघु बॉर्डर से एक बार फिर बुरी ख़बर आई है / जहां सिंघु बॉर्डर पर धरने में शामिल नौजवान किसान नवजोत सिंह की दिल का दौरा पड़ने के कारण मौत हो गई /

.

मृतक नौजवान किसान नाभा ब्लाक के गांव खेड़ी जट्टा का रहने वाला था, जिसकी उम्र 19 साल थी / मृतक न अपने परिवार का इकलौता पुत्र था और अपने गांव के किसानों के साथ सिंघु बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन में शामिल होने के लिए गया था / मौत की खबर से परिवार सहित गांव में मातम छा गया /

.

वहीं केंद्र सरकार की तरफ से लागू कानूनों को वापस न लेने के विरोध में गांव जैमल सिंह वाला में एक नौजवान द्वारा घर में फंदा लगाकर आत्महत्या का मामला सामने आया है / मृतक के पिता गुरचरन सिंह ने बताया कि उसका नौजवान पुत्र सतवंत सिंह खेती कानूनों को लेकर किसान जत्थेबंदी के साथ किसान आंदोलन में अपना बनता योगदान देता आ रहा था और 24 फरवरी को दिल्ली के टिकरी बार्डर से वापस आया था /

.

गांव की पंचायत में बैठकर कह रहा था कि मोदी सरकार खेती कानूनों को रद्द न कर के किसानों को बिना वजह तंग परेशान कर रही है और महिलाएं सड़कों पर आकर धरने दे रही हैं / इससे तो मरना ही अच्छा है / लकड़ी का मिस्त्री होने के कारण कोई काम नहीं चल रहा था और न ही कोई जमीन-जायदाद थी,

.

लेकिन खेती कानून रद्द न होने के कारण उसने रात को घर के पंखे से फंदा लगाकर खुदकशी कर ली / इस बात का परिवारिक सदस्यों को उस समय पता लगा जब सुबह कमरे का दरवाजा खटखटाया तो आवाज न आई, जिस पर उन्होंने तोड़ कर देखा तो सतवंत सिंह की लाश पंखे से लटक रही थी /

.

गांव के सरपंच सुखदीप सिंह, किसान जत्थेबंदी के गांधी सिंह ने पंजाब सरकार से मांग की है कि जब तक नौजवान के परिवार को 10 लाख रुपए का मुआवजा और सरकारी नौकरी नहीं मिलती तब तक उसका संस्कार नहीं किया जाएगा / इस मौके पर पहुंचे सहायक थानेदार गुरदीप सिंह का कहना है कि पारिवारिक सदस्यों के बयानों पर मामला दर्ज करके लाश को 174 की कार्यवाही के लिए बरनाला भेज दिया गया है /

.

मृतक अपने पीछे माता-पिता और फौजी भाई जो अहमदाबाद (गुजरात) में नौकरी करता है, को छोड़ गया है / उल्लेखनीय है कि दिल्ली के सरहदों पर आंदोलन दौरान कई किसान अपनी जानें गंवा चुके हैं, लेकिन मोदी सरकार कृषि बिल रद्द न करने की जिद्द पर अड़ी हुई है / वहीं आंदोलनकारी किसानों का कहना है कि जब तक वह काले कानून रद्द नहीं करवा लेते, तब तक चाहे कुछ भी हो जाए, वह अपने घरों को नहीं लौटेंगे /

.

 

 

हमारे फेसबुक पेज www.facebook.com/ptbnewsonline/ को लाईक करें और हमारे Youtube Channel https://www.youtube.com/ptbnewsonline/ को Subscribed करें और अपने शहर और आसपास की खबरें देखें सबसे पहले,

साथ ही आप हमारे Telegram नंबर 9815505203 पर न्यूज़ Updates पाने और WhatsApp नंबर 9592825203 पर न्यूज़ Updates पाने के लिए हमारे नंबर को अपने Mobile में Save करके या तो हमारे नंबर को अपने किसी ग्रुप में एड कर लें ताकि आपको, आपके पारिवारिक सदस्यों को, आपके दोस्तों को भी अपने शहर और आसपास की खबरें न्यूज़ मिल सकें या फिर हमें अपना पूरा नाम, शहर का नाम और इलाका जरूर लिखकर भेजें ताकि हम आपके नाम को Save करके किसी ग्रुप में एड कर सकें,

Punjab bad news from singhu border again young farmer dies suicide committed by youth due to non cancellation of agri laws

error: Content is protected !!