Latest news
इनोसेंट हार्ट्स में बुक फेयर का आयोजन : छात्रों ने खरीदी मनपसंद पुस्तकें एच.एम.वी. ने डीबीटी स्टार स्कीम के अन्तर्गत आयोजित किया गैस्ट लैक्चर, के.एम.वी. के गांधियन स्टडीज़ सेंटर से नि:शुल्क शिक्षा हासिल करने वाली छात्राओं को गांधी जयंती पर प्रद... आईवी वर्ल्ड स्कूल में विजयादशमी उत्सव का आयोजन, ਪ੍ਰਿੰਸੀਪਲ ਐਸੋਸੀਏਸ਼ਨ ਨੇ ਕਾਲਜਾਂ ਵਿਚ ਕੰਮ ਕਰਦੇ ਨਾਨ-ਟੀਚਿੰਗ ਅਮਲੇ ਨੂੰ ਵੀ ਨਵਾਂ ਪੇਅ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੇਣ ਦੀ ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਕ... GNA University organized an Expert Talk on “Protection of Critical Infrastructure in the Cyber Space... पंजाब के इस शहर में दिनदिहाड़े गोलियां चलने से फैली दहशत, घराें से बाहर निकले लोग, चीन जा रहे ईरान के विमान में बम की सूचना से मचा हड़कंप, सभी एयरफोर्स स्टेशनों को रखा गया अलर्ट पर, शातिर ठग का कारनामा, कपूरथला के DC की व्हाट्सएप अकाउंट पर फोटो लगा लोगों से कर रहा था ठगी, रडार को चकमा देने में माहिर स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर वायुसेना में शामिल, भारतीय ताकत में हुआ ...
 

डॉ. जौहल और शिकायतकर्ता के बीच हुआ कोर्ट में समझौता, डॉक्टर ने कहा झूठा था केस,

PTB Big न्यूज़ जालंधर : जालंधर के रामामंडी स्थित जौहल अस्पताल के मालिक डॉक्टर बीएस जौहल ने अपनी अग्रिम जमानत याचिका वापस ले ली है। शिकायतकर्ता और डॉक्टर जौहल के बीच कोर्ट में समझौता हो गया है। शिकायतकर्ता ने कोर्ट में 164 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज करवा कर अपनी शिकायत वापस ले ली है। डॉक्टर बीएस जौहल ने कहा कि पुलिस ने जो केस उन पर दर्ज किया था वह फैक्ट्स पर आधारित नहीं था।

उन्होंने कहा कि जिस प्रवासी मजदूर की शिकायत पर उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया था उसने भी कोर्ट में अपने बयान उनकी फेवर में दर्ज करवाए हैं। डॉक्टर जौहल ने कहा कि प्रवासी मजदूर ने अपने बयान में कहा है कि उससे कोरे कागजों पर जबरदस्ती हस्ताक्षर करवाए गए थे। वह डॉक्टर जौहल से ना तो कभी मिला और ना ही उन्हें जानता है। उसने कोर्ट में अपना केस वापस लेने के लिए भी याचिका डाली है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने झूठा मुकद्दमा उनके खिलाफ दर्ज किया था। उनके ऊपर जो एससीएसटी एक्ट के तहत धाराएं लगाई गई थीं वैसा कोई ओफेंस हुआ ही नहीं था।

बता दें कि जालंधर के रामामंडी में जालंधर वेस्ट के हल्के में बावा बस्ती खेल की रहने वाली एक महिला की प्रसूति के दौरान मौत हो गई थी।पुलिस ने महिला के पति की शिकायत पर अस्पताल के मालिक डॉक्टर जौहल के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। SC/ST Act की जिस धारा 3,4,5 के तहत जाति सूचक शब्द बोलकर अपमानित करने का मामला दर्ज किया गया था।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: