Latest news
पंजाब के पूर्व डिप्टी स्पीकर चरणजीत सिंह अटवाल का हुआ भयानक एक्सीडेंट, गाड़ी का हुआ बुरा हाल, अब नहीं होगी FIR गन कल्चर को लेकर, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब के DGP को क्या दिए निर्दे... हे भगवन, IG साहब की सरकारी पिस्टल और 25 कारतूस ही चुरा ले गये चोर, पुलिस जांच में जुटी, आखिर क्या है... गन कल्चर प्रमोट करने के मामले में 10 साल के बच्चे पर ही पुलिस ने दर्ज कर दी FIR, आखिर क्या है मामला, पंजाब में हथियारों के बल पर दिन-दिहाड़े हुई लाखों की लूट, CCTV में हुए कैद, बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन को लेकर आई बड़ी ख़बर, कोर्ट यह जारी किये आदेश, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की हो सकती है हत्या, बीजेपी नेता मनोज तिवारी के खिलाफ FIR हुई... गुरु रामदास की नगरी में चली गोलियां, दर्जन भर युवकों ने दातर व लोहे की रॉड से युवक को पीटा, अधमरा कर... बड़ी वारदात, कपड़ा व्यापारी से हथियार के बल पर होशियारपुर के लुटेरे ने लुटे रूपये, पुलिस ने किया गिरफ... पंजाब के DGP का देखने को मिला सख्त रुख, लिया जनता के हित में बड़ा फैसला, कहा गलत चाहे कोई भी हो किसी ...

जालंधर के दमोरिया पुल में हुई लाखों की लूट का मामला पुलिस ने खुश घंटों में सुलझाया, खुद रची लूट की साजिश,

PTB City न्यूज़ जालंधर : पंजाब के जालंधर शहर में दोमोरिया पुल पर हुई 5.64 लाख रुपए की लूट का मामला चंद घंटों में पुलिस ने सुलझा लिया है। जिस व्यक्ति ने लूट की शिकायत दी थी, उसने खुद ही लूट का ड्रामा रचा था। आरोपी राकेश कुमार उर्फ सोनू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने 5.64 लाख में से 2.64 लाख रुपया और एक्टिवा स्कूटर भी बरामद कर लिया है।

लूट के मास्टरमाइंड राकेश ने कहा कि सिर पर कर्ज होने के कारण उसने लूट की पटकथा लिखी थी। पैसे देखकर उसके मन में लालच आ गया था। इसके बाद उसने स्कूटर को एक गली में छिपा कर खड़ा कर दिया अपना मोबाइल भी स्विच ऑफ करके उसमें रख दिया। 5.64 लाख में से 3 लाख उसने खुर्द-बुर्द कर दिए। 2.64 लाख रुपया डिग्गी में ही रहने दिया।

राकेश ने बताया कि इसके बाद वह पैदल ही वापस व्यापारी मनी अरोड़ा पुत्र किशनलाल निवासी न्यू गांधी नगर के पास पहुंचा और उसे लूट की कहानी सुना दी कि पिस्तौल दिखाकर दोमोरिया पुल पर कुछ लोग उससे पैसे लूट कर ले गए हैं। मनी ने पुलिस को मामले की शिकायत दी। पुलिस ने कहानी सुनी तो शुरुआत में ही मामला संदिग्ध लगा। पुलिस ने राकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

DCP जसकिरणजीत सिंह तेजा ने कहा कि लूट की गुत्थी सुलझाने के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया था, लेकिन मामला संदिग्ध होने पर जब थाना डिविजन नंबर 3 के प्रभारी कमलजीत सिंह ने खुद को लूट का शिकार बताने वाले राकेश से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने रची गई लूट की सारी कहानी बता दी। आरोपी को चोरी और षड्यंत्र रचने के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया।

DCP ने कहा कि 3 लाख रुपए की रिकवरी भी की जाएगी। आरोपी राकेश को अदालत में पेश करके उसका रिमांड हासिल किया जाएगा। आरोपी पेशेवर मुजरिम है या नहीं, इस पर उन्होंने कहा कि अभी पड़ताल की जा रही है।

Latest News

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: