Latest news
इनोसैंट हार्ट्स जालंधर ने मनाया सड़क सुरक्षा सप्ताह, आसाराम बापू को लेकर सेशन कोर्ट ने आज सुनाया रेप मामले में बड़ा फैसला, जालंधर में 2 दिन बाद पूर्व पार्षद विक्की कालिया का हुआ अंतिम संस्कार, बेटा नहीं दे पाया मुखाग्नि, के... केबिनेट मंत्री Aman Arora ने आवास विभाग के 19 JE को सौंपे नियुक्ति पत्र, भ्रष्टाचार के खिलाफ विजिलेंस टीम का बड़ा एक्शन, BDPO को 25000 रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों किया गिरफ्ता... सत्य और अहिंसा को पाठ पढ़ाने वाले राष्ट्रपति महात्मा गांधी जी की पुण्यतिथि पर पंजाब महिला कांग्रेस प... मान सरकार की करनी और कथनी में है भारी अंतर, जालंधर के जिलाधीश कार्यलय के कर्मचारियों ने फिर खोला सरक... जालंधर पूर्व पार्षद विक्की कालिया को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में पूर्व विधायक सहित सहित कित... फगवाड़ा में हुए भयानक सड़क हादसे में फोटोग्राफरी का काम करने वाले युवकों की हुई दर्दनाक मौत, पंजाब में फिर हुई बड़ी वारदात, युवक ने कार सवार को मारी गोली, फैली सनसनी,

पंजाब पुलिस में तैनात ACP के रीडर को रिश्वत लेते हुए विजिलेंस की टीम ने किया रंगे हाथों गिरफ्तार,

PTB Big न्यूज़ अमृतसर : पंजाब विजिलेंस ब्यूरो की टीम ने अमृतसर पूर्वी के असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (ACP) के रीडर को 10 हजार रुपए रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी सीनियर कॉन्स्टेबल एक निजी व्यक्ति के साथ मिलकर केस को रफा-दफा करने के लिए 15 हजार रुपए मांग रहा था और लास्ट में 10 हजार रुपए में बात खत्म हुई।

विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि ACP पूर्वी के नायब रीडर की पहचान सीनियर कॉन्स्टेबल गुरदीप सिंह के तौर पर हुई है। इस रिश्वत को मांगने के लिए उसका साथ करीमपुरा निवासी मयूर नामक व्यक्ति दे रहा था। प्रताप नगर निवासी सुच्चा सिंह ने विजिलेंस ब्यूरो में शिकायत दी कि स्थानीय पुलिस ने उसके लड़के के खिलाफ मामला दर्ज किया हुआ है। जिसे रफा-दफा करने के लिए ही दोनों आरोपी मिलकर उनसे रिश्वत मांग रहे थे।

सुच्चा सिंह ने बताया कि रीडर गुरदीप अपने साथी मयूर के साथ मिलकर उससे 15 हजार रुपए की मांग कर रहे थे। बातचीत के बाद बात 10 हजार रुपए में पूरी हुई, लेकिन उसका जमीर पैसे देने को नहीं मान रहा था। दबाव के बाद उन्होंने विजिलेंस ब्यूरो का दरवाजा खटखटाया।

शिकायत मिलने के बाद टीम का गठन किया गया। जिसके बाद प्लानिंग कर सुच्चा सिंह को 10 हजार रुपए देकर भेजा गया। जब आरोपी ने 10 हजार रुपए पकड़ लिए तो सरकारी गवाहों की हाजिरी में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों आरोपियों के खि़लाफ भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के अंतर्गत विजिलेंस ब्यूरो के थाना अमृतसर में मुकदमा दर्ज करके आगे कार्यवाही शुरू कर दी है।

Latest News

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: