Latest news
इस Video के Viral होने की वजह से कैबिनेट मंत्री इंदरबीर सिंह निज्जर को हटाया गया पद से, चन्नी और CM मान के बाद सुखपाल सिंह खैरा भी उतरे मैदान में, चन्नी पर लगाए गए आरोपों को तथ्यों के आधार... चरणजीत सिंह चन्नी ने दिया भगवंत मान द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब वह भी तथ्यों के साथ, एच.एम.वी. में जिला युवा उत्सव-2023 का आयोजन ਲਾਇਲਪੁਰ ਖ਼ਾਲਸਾ ਕਾਲਜ ਦੇ ਪੋਸਟ ਗਰੈਜੂਏਟ ਪੋਲੀਟੀਕਲ ਸਾਇੰਸ ਵਿਭਾਗ ਦੇ ਮੁਖੀ ਪ੍ਰੋਫੈਸਰ ਮਨਪ੍ਰੀਤ ਕੌਰ ਸ਼ਾਨਦਾਰ ਸੇਵਾਵਾਂ ... के.एम.वी. कॉलेजिएट स्कूल की छात्राओं ने नेशनल साइंस ओलंपियाड में टॉप रैंक एवं गोल्ड मेडल किये हासिल सेंट सोल्जर छात्रों ने मनाया "वर्ल्ड नो तंबाकू डे", स्मोकिंग छोड़ने की अपील इनोसेंट हार्ट्स के 'लिटरेरी क्लब' ने नुक्कड़ नाटिका द्वारा 'विश्व तंबाकू निषेध दिवस' पर विद्यार्थियो... कैम्ब्रिज इंटरनैशनल स्कूल में बच्चों के अभिभावकों के लिए किया गया मॉर्निंग कन्वर्जेंस कार्यक्रम का आ... आइवी वर्ल्ड प्ले स्कूल ने स्कूल के छात्रों के लिए मोबाइल स्टोर के लिए आयोजन किया शैक्षिक विषयगत भ्रम...

ट्वीट वॉर, जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह व पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान में, क्या कुछ कहा?

PTB Big न्यूज़ चंडीगढ़ : श्री अकाल तख्त साहिब के कार्यकारी जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह द्वारा सरकार को 24 घंटों में पकड़े गए सिख युवकों को छोड़ने संबंधी अल्टीमेटम पर मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जवाब दिया है। मुख्यमंत्री ने ट्वीच में लिखा कि जत्थेदार अकाल तख्त साहिब जी सब को पता है कि आप व एसजीपीसी बादलों का पक्ष लेते हो, इतिहास देखें, कई जत्थेदारों को बादलों ने अपने स्वार्थों के लिए प्रयोग किया।

अच्छा होता अगर अल्टीमेटम बेअदबी व गायब हुए श्री गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूपों के लिए जारी करते न कि हंसते बसते लोगों को भड़काने के लिए। उल्लेखनीय है कि सोमवार को अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने पंथक संगठनों एवं शख्सीयतों की बैठक की थी जिसके बाद ही अल्टीमेट की बात सामने आई थी।

इस बीच, श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री प्रदेश के नुमाइंदे हैं, वह भी कौम के नुमाइंदे हैं और उन्हें कौम के निर्दोष नौजवानों के हक की बात करने का अधिकार है।

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री प्रदेश के नुमाइंदे हैं, वह भी कौम के नुमाइंदे हैं और उन्हें कौम के निर्दोष नौजवानों के हक की बात करने का अधिकार है। ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा, आपने सही कहा कि भोले-भाले धार्मिक लोगों का राजनीतिक लोग इस्तेमाल करते हैं।

पर मैंं इस बारे में पूरी तरह सचेत हूूं और मुख्यमंत्री को चेताया, आप ध्यान रखो कि राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए पंजाब को तंदूर की तरह जलता हुआ रखने के लिए आप जैसे लोगों का राजनीतिक लोग इस्तेमाल न कर लें। उन्होंने मुख्यमंत्री को सलाह दी कि राजनीतिक बातेंं बाद में करेंगे पहले हम सब मिलकर पंजाब को बचाएं और घर पर इंतजार कर रही मांओं को उनके जेल में कैद निर्दोष बेटों के साथ मिलाएं।

Latest News

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: