PTB News

Latest news
के.एम.वी. में करियर प्रोस्पेक्ट्स इन डिफेंस: फ्यूचर अहेड विषय पर एक्सटेंशन लेक्चर आयोजित, सेंट सोल्जर इंटर कॉलेज, जालंधर के छात्रों ने पीएसईबी कक्षा दसवीं के नतीजों में ग्रुप का नाम किया रोश... एच.एम.वी. की साक्षी एम.ए. हिन्दी तृतीय सेमेस्टर में यूनिवर्सिटी में प्रथम, डिप्टी कमिश्नर ने किया PAP चौंक का निरिक्षण, NHAI के अधिकारियों को दिए आदेश, सेंट सोल्जर डिवाइन पब्लिक स्कूल, न्यू मॉडल हाउस, जालंधर में विश्व विरासत दिवस मनाया गया, इनोसेंट हार्ट्स में 'हेरीटेज क्लब' के विद्यार्थियों ने 'साडा गौरव - सांडा विरसा' थीम के तहत मनाया 'व... पंजाब में तीन साल की मासूम बच्ची को जिंदा दफनाने वाली महिला को अदालत ने सुनाई फांसी की सजा, के.एम.वी. में आई.पी.आर. तथा आई.पी. मैनेजमेंट फॉर स्टार्टअप्स विषय पर अंतरराष्ट्रीय वर्कशॉप आयोजित, एच.एम.वी. की यूबीए टीम ने आहार क्रांति : उत्तम आहार-उत्तम विचार वर्कशाप में लिया भाग, आईवी वर्ल्ड स्कूल में "ट्रैश टू ट्रेज़र" गतिविधि का आयोजन,
Translate

Good News: बजट से पहले, केंद्र सरकार ने दिया आम जनता को बड़ा तोहफा,

mobile-phones-will-be-cheaper-prices-in-india-good-news-before-the-budget

.

.

PTB Big न्यूज़ नई दिल्ली : एक फरवरी 2024 को केंद्र वित्त मंत्री बजट पेश करेंगी। इस बार यूनिन बजट पेश नहीं किया जाएगा। बजट पेश होने से पहले सरकार मोबाइल मैन्यूफैक्चरिंग को लेकर एक नोटिफिकेशन जारी किया है। इस नोटिफिकेशन के अनुसार मोबाइल मैन्यूफैक्चरिंग में इस्तेमाल होने वाले घटकों पर आयात शुल्क को 10% की छूट दी गई है।

.

.

ऐसे में उम्मीद है कि बजट के बाद फोन की कीमतों में नरमी देखने को मिल सकती है। सरकार ने यह कदम भारत से निर्यात गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए लिया है। 10 फीसदी की संशोधित आयात शुल्क दर मोबाइल फोन असेंबली के लिए इस्तेमाल होने वाले घटकों पर लागू होगा। सरकार द्वारा जारी नए नोटिफिकेशन के अनुसार बैटरी कवर, मुख्य लेंस, बैक कवर और प्लास्टिक और मेटल से बनी मोबाइल पार्टस शामिल हैं।

.

.

.

यह निर्णय इस महीने की शुरुआत में आई हालिया रिपोर्टों के अनुरूप है। इस रिपोर्ट के अनुसारप सरकार मोबाइल के उन पार्ट पर आयात शुल्क कम करने पर विचार कर रहा है जो हाई-एंड मोबाइल फोन के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस कटौती का असर मोबाइल फोन इंडस्ट्री पर देखने को मिलेगा। इस फैसला के बाद भारत की मोबाइल फोन इंडस्ट्री को वैश्विक बाजार में विकास मिलने की उम्मीद है।

.

.

Latest News