PTB News

Latest news
श्री चंद्रमोहन, प्रधान,आर्य शिक्षा मंडल ने के.एम.वी. कैंपस में एच. डी. एफ. सी. बैंक की नई ए.टी.एम. क... इनोसेंट हार्ट्स कॉलेज ऑफ एजुकेशन पंजाब बीएड रजिस्ट्रेशन प्रवेश 2024 प्रारंभ, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का सख्त एक्शन, उठाया बड़ा कदम, सरकार ने किया बिजली बिल पर मंथली रेंट पूरी तरह से खत्म, अब देने होंगे केवल यूनिट के पैसे, डीआईजी जालंधर रेंज ने किया थाने का औचक निरीक्षण, एसएचओ को किया निलंबित, जाने पूरा मामला, जालंधर वेस्ट में होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस किस प्रत्याशी को उतारने जा रही है चुनाव मैदान में, जालंधर वेस्ट में इस बार चुनावी दंगल होगा दिलचस्प, एक बार फिर से आमने सामने हुए आप और भाजपा प्रत्याशी... सेंट सोल्जर लॉ कॉलेज में दाखिला लेने के लिए बढ़ रही रूचि जज उम्मीदवार छात्रों की, के.एम.वी. के द्वारा कौशल विकसित करती नि:शुल्क समर क्लासेस-2024 सफलतापूर्वक संपन्न, ਲਾਇਲਪੁਰ ਖ਼ਾਲਸਾ ਕਾਲਜ ਜਲੰਧਰ ਦੇ ਪੀ.ਜੀ.ਡੀ.ਸੀ.ਏ. ਦੀ ਵਿਦਿਆਰਥਣ ਨੇ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕੀਤਾ ਪਹਿਲਾ ਸਥਾਨ,
Translate

Crypto Currency Case मामले में नया मोड़, एक व्यक्ति के कहने पर लोगों ने लगा दिए करीब 10 करोड़,

on-the-advice-of-a-person-from-nauhangi-people-invested-rs-10-crore-in-crypto-currency-now-complaint-has-been

PTB Big न्यूज़ हमीरपुर / नादौन : क्रिप्टो करेंसी के नाम पर नादौन क्षेत्र में भी करोड़ों की ठगी हुई है। पुलिस थाना नादौन के तहत नौहंगी निवासी रविकांत ने एसपी हमीरपुर को शिकायत पत्र सौंपा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि उसने और क्षेत्र के अन्य लोगों ने पंजाब पुलिस की ओर से हिरासत में लिए गए इसी क्षेत्र के निवासी के कहने पर अपनी जमापूंजी निवेश की थी। यह राशि करीब 10 करोड़ रुपये है।

.

.

शिकायतकर्ता रविकांत सहित एक अन्य व्यक्ति ने आरोप लगाया है कि मंडी के मुख्य आरोपी की वेबसाइट के माध्यम से यह निवेश किया गया। मंडी के सुभाष शर्मा और मेरठ (यूपी) उत्तर प्रदेश के मिलन गर्ग ने उन्हें रुपये दोगुना करने का आश्वासन दिया था। इस प्रकरण में मंडी के धर्मपुर के कौंसल गांव और बंगाणा का एक प्रमोटर भी शामिल था। रविकांत ने आरोप लगाया कि वर्ष 2019 में निवेश का सिलसिला आरंभ हुआ।

.

.

इसके बाद कुछ लोगों को भुगतान भी हुआ, लेकिन दिसंबर 2021 से निवेश बंद कर दिया गया। जब लोगों ने रुपये वापस करने का दबाव बनाया तो दिसंबर 2022 में सुभाष शर्मा ने एक वीडियो जारी कर पांच माह का समय मांगा। इसके बाद उन लोगों से कोई संपर्क नहीं हुआ। रविकांत ने कहा कि उसके साथ क्षेत्र के कई लोगों ने निवेश किया था। अब सब लोग रकम वापस मिलने की आस लगाए बैठे हैं। वहीं, इस मामले में पुलिस अधीक्षक डॉ. आकृति शर्मा ने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है।

.

.

.

Latest News

.

Latest News