PTB News

Latest news
के.एम.वी. में करियर प्रोस्पेक्ट्स इन डिफेंस: फ्यूचर अहेड विषय पर एक्सटेंशन लेक्चर आयोजित, सेंट सोल्जर इंटर कॉलेज, जालंधर के छात्रों ने पीएसईबी कक्षा दसवीं के नतीजों में ग्रुप का नाम किया रोश... एच.एम.वी. की साक्षी एम.ए. हिन्दी तृतीय सेमेस्टर में यूनिवर्सिटी में प्रथम, डिप्टी कमिश्नर ने किया PAP चौंक का निरिक्षण, NHAI के अधिकारियों को दिए आदेश, सेंट सोल्जर डिवाइन पब्लिक स्कूल, न्यू मॉडल हाउस, जालंधर में विश्व विरासत दिवस मनाया गया, इनोसेंट हार्ट्स में 'हेरीटेज क्लब' के विद्यार्थियों ने 'साडा गौरव - सांडा विरसा' थीम के तहत मनाया 'व... पंजाब में तीन साल की मासूम बच्ची को जिंदा दफनाने वाली महिला को अदालत ने सुनाई फांसी की सजा, के.एम.वी. में आई.पी.आर. तथा आई.पी. मैनेजमेंट फॉर स्टार्टअप्स विषय पर अंतरराष्ट्रीय वर्कशॉप आयोजित, एच.एम.वी. की यूबीए टीम ने आहार क्रांति : उत्तम आहार-उत्तम विचार वर्कशाप में लिया भाग, आईवी वर्ल्ड स्कूल में "ट्रैश टू ट्रेज़र" गतिविधि का आयोजन,
Translate

पंजाब, AXIS बैंक के मैनेजर की हैरान कर देने वाली करतूत, लोगों के खातों से उड़ा लिए 50 करोड़, FIR दर्ज, जाने पूरा मामला,

case-filed-against-mohali-axis-bank-manager-fraud-big-crime-news

.

PTB Shocking न्यूज़ मोहाली : मोहाली के न्यू चंडीगढ़ स्थित गांव बांसेपुर में एक्सिस बैंक की ब्रांच से करोड़ों रुपए गबन होने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने यह मुकदमा बैंक के कार्यकारी शाखा प्रमुख विकास सूद की शिकायत पर दर्ज किया है। मुकदमा बैंक के मैनेजर गौरव शर्मा निवासी गांव भोआ, पठानकोट के खिलाफ किया गया है।

.

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 381, 409 और 120B के तहत दर्ज किया गया है। मामले में आरोपी अभी फरार चल रहा है। पुलिस ने आरोपी की तलाश के लिए कई टीमों का गठन किया है। पुलिस के पास अभी तक 30 से 40 ग्रामीणों ने शिकायत दे दी है। लेकिन अभी भी कई ग्रामीण ऐसे हैं, जो इस मामले से अवगत नहीं हैं। इस कारण पुलिस ने बैंक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि उनके बैंक में जितने भी खाता धारक हैं। उन सभी के खातों की जांच कर कुल रकम का आकलन किया जाए।

.

.

ताकि आरोपी द्वारा किए गए गबन का सही अनुमान लगाया जा सके। वहीं, ग्रामीणों के हंगामे को देखते हुए पुलिस ने बैंक कर्मियों की सुरक्षा के लिए वहां पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। पुलिस ने जो अब तक की जांच की है, उसमें सामने आया है कि आरोपी बैंक मैनेजर ने लोगों के खातों से पैसे अलग-अलग खातों में ट्रांसफर किए हैं। ज्यादातर पैसे उसने अपने माता-पिता के खाते में ट्रांसफर किए हैं। आरोपों के मुताबिक मैनेजर ने 17 नवंबर 2023 को सुरेंद्र कौर के खाते से 50 लाख रुपए,

.

हरदीप सिंह के खाते से 20 लाख और 22 नवंबर 2023 को 15 लाख और 5 लाख अपने पिता अजय कुमार के खाते में ट्रांसफर किए थे। ऐसे ही गुरदीप सिंह के खाते से 15 लाख रुपए अपनी मां स्वराज पॉल के खाते में ट्रांसफर किए थे। मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि लोगों ने बैंक में अपनी जमा पूंजी को इकट्ठा रखने के लिए फिक्स डिपॉजिट करवाए हुए थे और खातों में भी पैसा इकट्ठा किया हुआ था। लेकिन बैंक के मैनेजर ने उन लोगों के खातों में लिंक मोबाइल नंबर ही बदल दिए। जिस कारण लोगों के पास पैसे निकलने का कोई मैसेज भी नहीं पहुंचा।

case-filed-against-mohali-axis-bank-manager-fraud-big-crime-news

अब मैनेजर पिछले दो दिनों से बिना किसी सूचना के ब्रांच में नहीं आया, तो लोगों को इसका शक हुआ। लोगों ने बताया कि जब ग्रामीण मैनेजर के पास अपनी पासबुक की एंट्री करवाने जाते थे, तो वह बैंक की मशीन खराब होने का बहाना लगाकर उन्हें वापस भेज देता था। इस पर पास के गांव कंसाला की ब्रांच से एक ग्रामीण ने अपनी स्टेटमेंट निकलवा ली थी। इसकी भनक बैंक मैनेजर को भी लग गई थी। वह तब से ही गायब हो गया है।

.

.

पिछले दो दिन पहले ही उसने न्यू चंडीगढ़ की एक सोसाइटी में अपने एक फ्लैट को भी खाली कर दिया है। अब उसके फ्लैट पर ताला लगा हुआ है और आरोपी मैनेजर का फोन स्विच ऑफ आ रहा है। अब तक की जांच में यह भी सामने आया है कि आरोपी ने ग्राहकों के खाते में अपना खुद का नंबर जोड़ रखा था। ताकि उनके खाते से निकलने वाली रकम का मैसेज उनके पास न जाए। बैंक ग्राहक गुरदीप सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि उसके परिवार को पंजाब अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से जमीन अधिग्रहण का मुआवजा मिला था।

.

उन्होंने गांव के ही एक्सिस बैंक के बचत खाते में पैसे जमा करवाए थे। जब वह बैंक में पैसे निकलवाने गए तो उनके खाते में पैसे ही नहीं थे। इसके बाद उन्होंने बैंक मैनेजर को फोन किया और सूचना दी। बैंक मैनेजर ने उन्हें बैंक आने को कहा। इसके बाद मैनेजर का फोन बंद हो गया। गुरदीप सिंह ने बताया कि बैंक मैनेजर ने उनके अकाउंट के साथ अपना मोबाइल नंबर अटैच कर रखा था। इसी कारण उन्हें पैसे निकालने का पता नहीं चला। इसी तरह से जिन जिन लोगों के खाते से पैसे निकाले हैं। उन सब में उसने अपना नंबर जोड़ा हुआ था।

.

.

Latest News