PTB News

Latest news
एच.एम.वी. में दो दिवसीय आर्ट इको 2024 विषय पर अंतरर्राष्ट्रीय वर्कशाप का आयोजन, सेंट सोल्जर पैराडाइज पब्लिक स्कूल के छात्र ने छुईं बुलंदियां, इनोसेंट हार्ट्स ने ग्लैमरस गैलेक्सी फैशन फैस्ट का किया आयोजन, के.एम.वी. में पर्सनल ब्रांडिंग स्ट्रैटेजिक टू एनहांस करियर ऑप्शंस विषय पर एक्सटेंशन लेक्चर आयोजित, दिन-दिहाड़े इस बड़े नेता की हत्या, हमलावरों का CCTV फुटेज आया सामने, 7 लोगों के खिलाफ दर्ज हुई FIR, पंजाब, मुख्यमंत्री भगवंत मान ने 457 युवाओं को बांटे आज नियुक्ति पत्र, ईमानदारी से काम करने की दी प्र... जालंधर, राज्यपाल बीएल पुरोहित की मौजूदगी में PM मोदी ने जालंधर के रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास का किया... पंजाब, अलग-अलग बोर्डों के चेयरमैन की हुई नियुक्ति, चंदन ग्रेवाल को मिली बड़ी जिम्मेदारी, मुख्यमंत्री ... जालंधर, लाखों रुपए की महंगी सिगरेट व नकदी चुरा ले गए चोर, सुबह-सुबह दिया वारदात को अंजाम, जालंधर में तेज रफ्तार लगज़री गाड़ी ने दोपहिया वाहन सवार दंपत्ती को मारी टक्कर, दोनों के टूटे चूल्हे,...
Translate

अब बिना चार्जर के ही चार्ज होंगे आपके स्मार्टफोन, किस टेक्नोलॉजी से आई यह क्रांति, जाने पूरा मामला,

what-is-qi2-technology-and-how-it-will-charge-smartphones-without-charger-how-to-redeem-code-in-free-fire-free-fire-radium-code-fire-redeem-code-big-news

PTB News “Mobile Gadgets” : टेक्नोलॉजी में हर पल और हर दिन विकास हो रहा है। हर दिन पूरी दुनिया में इनोवेशन हो रहे हैं। स्मार्टफोन के क्षेत्र में पिछले 10 वर्षों में काफी विकास हुआ है। एक दौर ऐसा भी था जब फोन की बैटरी को फोन से निकालकर चार्ज किया जाता था और अब एक दौर ऐसा भी आया है जब फोन को बिना तार के यानी वायरलेस तरीके से चार्ज किया जा रहा है। अब एक ऐसी टेक्नोलॉजी आई है जो फोन को बिना चार्जर के ही चार्ज करेगी। इस टेक्नोलॉजी को Qi2 नाम दिया गया है।

.

इस रिपोर्ट में हम आपको Qi2 टेक्नोलॉजी के बारे में विस्तार से बताएंगे। Qi वायरलेस चार्जिंग कोई नई तकनीक नहीं है लेकिन Qi2 जरूर नया है। वायरलेस चार्जिंग को Qi चार्जिंग कहा जाता है। जिन फोन या डिवाइस में वायरलेस चार्जिंग का सपोर्ट होता है उन पर Qi लिखा होता है। Qi2 वायरलेस चार्जिंग के पहले वर्जन का अपग्रेडेड वर्जन है। Qi2 भी एक तरह की वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी है जिसकी चर्चा iPhone 15 सीरीज की लॉन्चिंग के बाद से शुरू हो गई है। एपल ने आईफोन 15 सीरीज में Qi2 का सपोर्ट दिया है।

.

.

Qi2 को Qi 2.0 भी कह सकते हैं। बहुत ही आसान भाषा में समझें तो Qi में जहां फोन को एक चार्जिंग पैड कर रखकर चार्ज करना होता है, वहीं Qi2 फोन को पैड पर रखने की जरूरत नहीं है। Qi2 100 फीसदी वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी है। Qi2 टेक्नोलॉजी स्मार्टफोन को हवा के जरिए एडवांस इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेजोनेंस की मदद से चार्ज करेगी।

.

Qi2 टेक्नोलॉजी पूरी तरह से इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेजोनेंस पर काम करती है। इस टेक्नोलॉजी में चार्जर और डिवाइस का कोई संपर्क नहीं रहता है। Qi2 टेक्नोलॉजी में ट्रांसमीटर और रिसीवर दोनों तरह की क्वाइल का इस्तेमाल होता है। Qi2 टेक्नोलॉजी में जैसे ही कोई स्मार्टफोन ट्रांसमीटर और रिसीवर दोनों क्वाइल की रेंज में आता है तो ये दोनों क्वाइल इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड तैयार करते हैं जिसकी मदद से फोन चार्ज होने लगता है।

.

.

Qi2 का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह परंपरागत वायरलेस चार्जिंग के मुकाबले काफी फास्ट है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल भी आसान है। इसमें आपको किसी चार्जर और चार्जिंग केबल की जरूरत नहीं है, हालांकि Qi2 चार्जिंग के लिए भी चार्जिंग स्टेशन बनाने की जरूरत होगी। Qi2 चार्जिंग स्टेशन का एक दायरा होगा जिसमें आने के बाद फोन अपने आप ही चार्ज होंगे। Qi2 का इस्तेमाल सार्वजनिक जगहों, घरों और ऑफिस में बड़े स्तर पर होगा। Qi2 चार्जिंग का फायदा पर्यावरण को भी होगा, क्योंकि इससे ई-वेस्ट में कमी आएगी। घर से चार्जिंग केबल, एडाप्टर खत्म हो जाएंगे।

.

Latest News

.

Latest News