Latest news
पंजाब के पूर्व डिप्टी स्पीकर चरणजीत सिंह अटवाल का हुआ भयानक एक्सीडेंट, गाड़ी का हुआ बुरा हाल, अब नहीं होगी FIR गन कल्चर को लेकर, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब के DGP को क्या दिए निर्दे... हे भगवन, IG साहब की सरकारी पिस्टल और 25 कारतूस ही चुरा ले गये चोर, पुलिस जांच में जुटी, आखिर क्या है... गन कल्चर प्रमोट करने के मामले में 10 साल के बच्चे पर ही पुलिस ने दर्ज कर दी FIR, आखिर क्या है मामला, पंजाब में हथियारों के बल पर दिन-दिहाड़े हुई लाखों की लूट, CCTV में हुए कैद, बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन को लेकर आई बड़ी ख़बर, कोर्ट यह जारी किये आदेश, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की हो सकती है हत्या, बीजेपी नेता मनोज तिवारी के खिलाफ FIR हुई... गुरु रामदास की नगरी में चली गोलियां, दर्जन भर युवकों ने दातर व लोहे की रॉड से युवक को पीटा, अधमरा कर... बड़ी वारदात, कपड़ा व्यापारी से हथियार के बल पर होशियारपुर के लुटेरे ने लुटे रूपये, पुलिस ने किया गिरफ... पंजाब के DGP का देखने को मिला सख्त रुख, लिया जनता के हित में बड़ा फैसला, कहा गलत चाहे कोई भी हो किसी ...

रडार को चकमा देने में माहिर स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर वायुसेना में शामिल, भारतीय ताकत में हुआ इजाफा,

PTB Big न्यूज़ नई दिल्ली : भारतीय वायुसेना को आज ‘लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर‘ (LCH) मिल गया है। देश में विकसित यह हेलिकॉप्टर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में एयरफोर्स में शामिल हो गया। इस हेलिकॉप्टर को जोधपुर स्थित वायुसेना के ठिकाने पर आयोजित एक इवेंट में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वी। आर। चौधरी की उपस्थिति में शामिल किया गया।

इस हेलिकॉप्टर के बेड़े में शामिल होने के बाद वायुसेना की ताकत में और ज्यादा बढ़ोतरी हो गई है। क्योंकि ये बहुपयोगी हेलिकॉप्टर कई तरह की मिसाइल दागने और हथियारों का इस्तेमाल करने में सक्षम है। भारत के पहले स्वदेशी ‘लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टर’ का निर्माण हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) ने किया है। स्वदेशी LCH देश के ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात होंगे।

5.8 टन वजन के और दो इंजन वाले इस हेलिकॉप्टर से पहले ही कई हथियारों के इस्तेमाल का परीक्षण किया जा चुका है। इस साल मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) की बैठक में स्वदेश विकसित 15 एलसीएच को 3887 करोड़ रुपये में खरीदने की मंजूरी दी गई थी।

रक्षा मंत्रालय ने बताया कि इनमें से 10 हेलिकॉप्टर वायुसेना के लिए और 5 थल सेना के लिए होंगे। इससे हवाई जंग का महायोद्धा माना जा रहा है। राजनाथ सिंह ने कहा कि लंबे समय से हमलावर हेलीकॉप्टरों की जरूरत थी। 1999 के कारगिल युद्ध के दौरान इसकी जरूरत को गंभीरता से महसूस किया गया था। एलसीएच दो दशकों के रिसर्च एवं विकास का परिणाम हैं। भारतीय वायुसेना में इनका शामिल होना रक्षा उत्पादन में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है।

Latest News

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: