PTB News

Latest news
पुलिस कमिश्नरेट जालंधर ने रैस्टोरैंट, क्लब और लाइसेंसशुदा खाने-पीने का काम करने वालों को जारी किये स... केएमवी छात्राओं के लिए ऑटोनमस स्टेटस के तहत रिटेस्ट और तुरंत निवारण की सुविधा कर रहा प्रदान, इनोसेंट हार्ट्स स्कूल ने ग्यारहवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए अंग्रेजी भाषण प्रतियोगिता का क... सेंट सोल्जर इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी ने हवन पूजन के साथ किया शैक्षणिक सत... जालंधर उपचुनाव में बड़ी बाजी मारने वाले मोहिंदर भगत ने आज चंडीगढ़ में ली शपथ, मुख्यमंत्री भगवंत मान भी... अब इस राज्य के बेरोजगार लड़कों को मिलेंगे हर महीने 10 हजार रुपए, सरकार ने किया ऐलान, 15 अगस्त से, सभी उम्र की महिलाओं को इस राज्य के मुख्यमंत्री ने दी मुफ्त यात्रा करने की सुविधा देने क... अमेरिका जाने के चक्कर में पंजाब के युवक ने लाखों खर्च कर घूमीं पूरी दुनिया, अंत में पहुंच गया जेल, ट... पंजाब : 17 जिलों में आज से दो दिनों के लिए बारिश का मौसम विभाग ने किया येलो अलर्ट, तेज आंधी की भी दी... सेंट सोल्जर इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के छात्रों ने यूनिवर्सिटी रिजल्ट में मारी बाजी...
Translate

फर्जी वीज़ा से कनाडा भेजने के लिए एजेंटों ने अपनाया नया हथकंडा, खुलासा सुन सुरक्षा एजेंसियां भी रह गई दंग,

canada-passenger-deported-from-vietnam-igi-airport-police-conducted-raids-punjab-and-up-arrested-three-people

.

PTB Big न्यूज़ कनाडा : ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन के काउंटर से एक युवक को डिपोर्ट कर दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट भेजा गया था। जांच के दौरान, इसके पासपोर्ट पर लगे कैनेडियन वीजा फर्जी पाया गया था और इस बात की पुष्टि कनाडा बॉर्डर सर्विस एजेंसी के लाइजन ऑफिसर ने भी कर दी थी, जिसके बाद, इस युवक को आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया था।

.

.

इस मामले में डीसीपी उषा रंगनानी के अनुसार आरोपी युवक की पहचान करमिंदर सिंह के रूप में की गई है। वह मूल रूप से गुरदासपुर (पंजाब) के दरपुर गांव का रहने वाला है। ब्‍यूरो ऑफ इमिग्रेशन की शिकायत पर करमिंदर को भारतीय न्‍याय संहिता और पासपोर्ट एक्‍ट के तहत गिरफ्तार किया गया है। वहीं मामले की पूछताछ के लिए आईजीआईए एसएचओ इंस्‍पेक्‍टर विजेंद्र सिंह के नेतृत्‍व में एक टीम गठित की गई थी।

.

.

इस पूछताछ के दौरान करमिंदर ने बताया कि इंटरनेट के जरिए उसे जगजीत सिंह नामक एक एजेंट का नंबर मिला था। जगजीत ने 24 लाख रुपए के एवज में उसे कनाडा और वियतनाम का वीजा उपलब्‍ध कराना था। डील के अनुसार, दस लाख रुपए का पहला भुगतान करमिंदर ने जगजीत सिंह को कर दिया। इसके बाद, जगजीत के कहने पर उसने 14 लाख रुपए गुरनाम सिंह नामक एक अन्‍य एजेंट को दे दिए।

.

.

28 जून को वह आईजीआई एयरपोर्ट से वियतनाम के लिए रवाना हो गया। वहीं, वियतनाम से कनाडा जाने की कोशिश के बीच उसको पकड़ लिया गया और दिल्‍ली के आईजीआई एयरपोर्ट के लिए डिपोर्ट कर दिया गया। इस खुलासे के आधार पर आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस ने जगजीत सिंह और गुरनाम की तलाश शुरू कर दी। लंबी कवायद के बाद गुरनाम को पंजाब के गुरदासपुर से गिरफ्तार कर लिया गया।

.

पूछताछ के दौरान, आरोपी गुरनाम ने बताया कुछ साल पहले उसकी मुलाकात जगजीत से हुई थी, जिसके बाद, जगजीत के साथ मिलकर उसने लोगों का विदेश भेजने के नाम पर ठगना शुरू कर दिया था। इस मामले में उसने फर्जी कैनेडियन वीजा अरेंज करने में जगजीत की मदद की थी साथ ही करमिंदर से 14 लाख रुपए लेकर जगजीत तक पहुंचाया था, जिसके एवज में उसे बतौर कमीशन 4 लाख रुपए मिले थे।

Latest News